Word best New top 25+ sad shayari in hindi

Here available a lot of world best sad shayari for lovers who fail in love.

हेलो दोस्तों इस वेबसाइट में आप सभी को स्वागत है। हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,
होने लगे हो कुछ-कुछ बेवफा से तुम। आज आप सभी के लिए लाये है सैड शायरी का संग्रह।  यह शायरी उन भाईओ के लिए है ,जो अपने प्यार और ज़िन्दगी दोनों से हारे चुके है।  इस शायरी से उन लोगो को सिखने के लिए मिलती है, जो इंसांन अभी किसी से देखा नहीं मिला है। सैड शायरियो का ऐसा बहुत सारा संग्रह लेकर आये है।  मै हमेशा से ही आप सभी के लिए नए नए सैड शायरियो का कलेक्शन लेकर आता हु। येह शायरी उन लोगो को एक नए जीने की राह सिखाती है। हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,
होने लगे हो कुछ-कुछ बेवफा से तुम। मै आशा और विश्वास से येह कहना चाहता हु की आप सभी को येह सैड शायरी बहुत ही जयादा पसंद आयी होगी। आपलोग इस sad shayari  को कही पर भी शेयर कर सकते हो। इस वेबसाइट पर हमेशा नए नए शायरियो का संग्रह अपलोड किया जाता है। आप इस सैड शायरी को को भाई, बहिन, रिश्तेदार,दोस्त, और फैमिली के सदश्य को भी भेज सकते है।

Sad shayri reprents those person who are kicked out from love.


SAD SHAYARI FOR LOVER PERSON



31थी ❤मोहब्बत❤ हमे उनसे इतनी..
ना जाने क्या कमी पड़ गयी...
बेवफाओं की इस दुनियां में संभलकर चलना,
यहाँ मुहब्बत से भी बर्बाद कर देते हैं लोग।
वो चली गयी👼 ये बोलकर हमसे..
तेरी ❤मोहब्बत❤ में बेईमानी भर गयी...







32किस्मत के खेल को💤 कौन जानता था.
जो आज मेरा हैं💭 वो कल पराया होगा..
जानकर भी रोक ना पाते😟 तकदीर की रवानी को...
किस्मत ने भी जाने 💬कितनो को हराया होगा....


33❤दिल❤ मेरा जो अगर रोया न होता..
हमने भी आँखों👀 को भिगोया न होता...

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,
ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,
कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

दो पल की हँसी☺ में छुपा लेता ग़मों को..
ख़्वाब की हक़ीक़त💥 को जो संजोया नहीं होता...


34चिंगारी का ख़ौफ़👱 न दिया करो हमे..
हम अपने ❤दिल❤ में दरिया बहाय बैठे है...
अरे हम तो कब का जल 💂गये होते इस आग में..
लेकिन हमतो खुद💢 को आंसुओ में भिगोये बैठे है...


35सोचा था😈 तड़पायेंगे हम उन्हें..
किसी और का नाम😳 लेके जलायेगें उन्हें...
फिर सोचा मैंने💃 उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा..
तो फिर भला किस😝 तरह सताए हम उन्हें...


36मिल भी जाते हैं💃 तो कतरा के निकल जाते हैं..
मौसम की तरह लोग👨 बदल जाते हैं....
हम अभी तक हैं😓 गिरफ्तार-ए-❤मोहब्बत❤ यारों..
ठोकरें खा के सुना था👺 कि संभल जाते हैं....


37जख़्म इतना गहरा हैं 💞इज़हार क्या करें.
हम👩 ख़ुद निशां बन गये ओरो का क्या करें..
मेरी आँखों में आँसू की तरह, एक बार आ जाओ
तक़ल्लुफ़ से बनावट से अदा से चोट लगती है
मर गए हम मगर खुली रही 👀आँखे हमरी...
क्योंकि हमारी 👀आँखों👀 को उनका इंतेज़ार हैं....


38दर्द को दर्द 👥अब होने लगा है..
दर्द अपने गम पे💗 खुद रोने लगा है....
अब हमें दर्द से दर्द नही लगेगा..
क्योंकि दर्द हमको😜 छू कर खुद सोने लगा है....


39चेहरे पर ☺हँसी☺ छा जाती है...
आँखों👀 में सुरूर आ जाता है..
जब तुम मुझे👌 अपना कहते हो...
अपने आप पर👤 ग़ुरूर आ जाता है....


40ना समझो कि 👻हम आपको भुला सकेंगे..
आप नही जानते की ❤दिल❤ मे छुपा कर रखेंगे...
आप बेवफा होंगे कभी सोचा ही नहीं था, आप कभी खफा होंगे सोचा ही नहीं था, जो गीत लिखे हमने कभी तेरे प्यार पर तेरे, वही गीत रुशवा होंगे सोचा ही नहीं था।
देख ना ले आपको कोई हमारी 👀आँखों👀 मे दूर से..
इसी लिए हम👨 पालखे झुका के रखेंगे...


41आपनी 👀आंखो👀 के समुन्दर मे उतर जाने दे..
तेरा मुजरिम हूँ💇 डूब कर मर जाने दे....
जख्म कितना दिया है😊 तेरी चाहत ने मुझको..
सोंचता हूँ कहूँ😝 मगर जाने दे....


42वफ़ा करने से मुकर गया है ❤दिल❤..
अब ❤प्यार करने से डर गया है दिल...
अब किसी सहारे👼 की बात मत करना..
झूठे दिलासों से भर गया है ❤दिल...


43मंजिल✌ भी उसकी थी💥 रास्ता भी उसका था.
☝एक मै अकेला था😂 बाकी काफिला भी उसका था..
साथ साथ चलने की😨 सोच भी उसकी थी...
फिर रास्ता बदलने का🙋 फैसला भी उसका था....


44सोचा था💅 तड़पायेंगे हम उन्हें..
किसी और का नाम👸 लेके जलायेगें उन्हें...
फिर सोचा मैंने👪 उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा..
तो फिर भला किस तरह😦 सताए हम उन्हें...


45❤मोहब्बत❤ मुकद्दर है कोई ख़्वाब नही...
ये वो अदा है जिसमें हर कोई 💃कामयाब नही..
जिन्हें मिलती ✌मंज़िल✌ उंगलियों पे वो खुश है...
मगर जो पागल😍 हुए उनका कोई हिसाब नही..


46होले होले कोई👨 याद आया करता है..
कोई ❤मेरी हर साँसों को महकाया करता है...
उस अजनबी का हर पल👻 शुक्रिया अदा करते है..
जो इस नाचीज़ को ❤मोहब्बत❤ सिखाया करता है...


47हम तो ख्वाबो की😨 दुनिया में बस खोते गये..
होश तो था 😡फिर भी मदहोश होते गये...


तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी, वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी,



 ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है, तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी।


उस अजनबी चेहरे☺ में क्या जादू था..
न जाने क्यों 👨हम उसके होते गये...


48तुम्हारा पता नहीं लेकिन.
हमारा मन 💙कभी तैयार नहीं होगा..
☝एक तुम्हारे सिवा किसी और से...
अब कभी हमें ❤प्यार नहीं होगा....


49रोक लेते तुम्हे हम अगर 👲हक़ थोड़ा भी तुम👩👩 पर हमारा होता...
ना काट रहे होते यूं रो 💀रोकर ज़िन्दगी अपनी....
अगर इस ❤दिल❤ में हमारे ❤तुम्हारे अलावा कोई और होता.....


50अधूरे मिलन की आस है ये❤ ज़िन्दगी..
हँसी☺ और ग़म का एहसास है ये ज़िन्दगी...
कभी वक़्त मिले💂 तो आना मेरे ख़्वाबों में..
तुम्हारे बिना बहुत उदास👯 है ये ज़िन्दगी...


51जिंदगी सुन्दर हैं👩 पर जीना नही आता..
हर चीज मे नशा हैं👲 पर पीना नही आता....
सब 👦मेरे बगैर जी सकते हैं..
बस 👦मुझे ही किसी के बीना जीना नही आता....


52सपना कभी साकार👩 नहीं होता.
❤मोहब्बत❤ का कोई आकार नहीं होता..
सब कुछ हो जाता है👴 दुनिया में...
मगर दुबारा किसी से सच्चा ❤प्यार❤ नहीं होता....


53✌मंज़िल है💧 तो रास्ता क्या है..
हौंसला है तो 💇 फांसला क्या है ...
वो सजा देकर दूर💂 जा बैठे..
किस्से पूछूँ😕 मेरी खता क्या है...


54वो बिछड़ के हमसे👩 ये दुरिया कर गई..
ना जाने क्यों ये ❤मोहब्बत❤ अधूरी कर गई...
अब हमें तन्हाईया चुभती है💢 तो क्या हुआ..
कम से कम उसकी सारी😤 तमन्ना तो पूरी हो गई...


55❤इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है..
तुम बिछड गए हम👨 बिख़र गए....
नजर नजर से मिलेगी तो सर झुका लेगा, वह बेवफा है मेरा इम्तिहान क्या लेगा, उसे चिराग जलाने को मत कह देना, वह नासमझ है कहीं उंगलियां जला लेगा।
तुम👦 मिले नहीं और..
हम👩 किसी और के हुए नही....


56बिन बात के ही💏 रूठने की आदत है..
किसी अपने का साथ💖 पाने की चाहत है...
आप खुश☺ रहें💋 मेरा क्या है मैं तो आईना हूँ..
मुझे तो टूटने👯 की आदत है...


57हम जानते है आप ✌जीते✌ हो जमाने के लिए..
☝एक बार तो जीके देखो सिर्फ हमारे लिए....
इस नाचीज़ की ❤दिल❤ क्या चीज़ है..
हम तो जान भी देदेंगे💆 आप को पाने के लिए....


58बर्बाद कर देती हे ❤मोहब्बत❤ हर ❤मोहब्बत❤ करने वाले  को..
किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना, मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है।
क्यूंकि ❤इश्क हार नहीं मानता और ❤दिल बात नहीं मानता....


59 खुद को कितना भी रोकूँ ❤मोहब्बत बढती जाती हैं...
तुमसे लड़ने के बाद तुम्हारी😁 और भी याद आती हैं....


60 तुझे चाहा हमेशा पर💥 हक न जमाया कभी..
मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है, अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।
तुझसे दूर होकर बहुत रोए 💗लेकिन तुझे न बताया कभी....

Post a Comment

0 Comments